सर्दी और गर्मी में होने वाले बुखार के जबरदस्त घरेलू उपाय......

बुखार के जबरदस्त घरेलू उपाय

बुखार के जबरदस्त घरेलू उपाय
बुखार के लक्षण ,कारण और उपाय
www.fitneshyoga.com
मौसम भले ही सर्दी का हो या गर्मी का बुखार एक आम बीमारी हैं जो की हर मौसम में होने वाली बीमारी है ,और यह प्रत्येक मानव को होती रहती हैं. क्योंकि बुखार हमारे शरीर में बाहरी संक्रमण का प्रवेश कर जाने से होने वाला संक्रमण है जैसे - मौसम का अचानक बदलना आदि बुखार के कारण बनते हैं. बुखार और कुछ नहीं बल्कि शरीर की एक प्रक्रिया हैं, जब हमारे शरीर में कोई बाहरी संक्रमण प्रवेश कर जाता हैं तो शरीर उस संक्रमण से अपनी रक्षा करने के लिए प्रतिरोध करता हैं. इस प्रतिरोध में शरीर का तापमान काफी बढ़ जाता हैं और इसी को हम बुखार आना कहते हैं.

बुखार आने के लक्षण

  • जोड़ों व हाथ पैरों में दर्द होना,
  • जी मिचलाना (घबराना),
  • गले में कफ बनना खराश होना, ठण्ड लगना, 
  • शरीर में आलस्य व सुस्ती आना,
  • शारीरिक कमजोरी आना, 
  • जरा सा काम करने पर थकान महसूस होना, 
  • कई रोगियों को बुखार में सिर का दर्द भी होता हैं, 
  • चिड़चिड़ापन आता हैं, 
एक जगह बैठने का मन करता हैं आदि यह सभी बुखार के सामान्य संकेत होते हैं.

बुखार आने के कारण

ज्यादातर बुखार मौसम के परिवर्तन के कारण आता हैं इसका कारण होता हैं कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता. जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होगी उन्हें आसानी से बुखार नहीं आता फिर चाहे मौसम कैसा ही हो और जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती हैं उन्हें मौसम में जरा से परिवर्तन होने पर ही सर्दी जुकाम हो जाता हैं तो बार-बार बुखार आना इसी वजह से होता हैं. ऐसे बुखार के घरेलु इलाज के लिए नुस्खे – रोजाना सुबह खाली पेट -3-4 तुलसी के पत्ते खाये रोजाना इस उपाय को करने से जीवन भर बुखार नहीं आएगा.

बुखार के आयुर्वेदिक उपाय

  • ठन्डे पानी की पट्टी रखे- यदि बुखार बढ़ गया हो तो एक कपड़े को पानी में भिगो के मरीज़ के सर पर छाती पर और पैरो पर रखना चाहिए। आधे-आधे घंटे के अंतर में कपड़े को भिगोकर निचोड़ के रखते रहिये तो टेम्परेचर नियंत्रण में रहेगा।
  • लहसुन के तेल से मालिश करे- लहसुन को तेल में मिलाकर गर्म करे और इस तेल से मरीज़ के पैरो के तलवे पर मालिश करे। अगर जुखाम है तो छाती पर, गले पर, हाथो पर और मस्तिष्क पर भी मालिश करे।
  • लोंग सबसे आसान उपाय-यह लौंग का उपाय सबसे आसान हैं, अगर आपको सामान्य बुखार हैं तो आप इसे जरूर आजमाए. एक लौंग अच्छे से बारीक़-बारीक़ पीसकर हलके गर्म पानी के साथ लेने से बुखार जल्द ही ठीक हो जाता हैं. इस प्रयोग को आप दिन में तीन से चार बार करे, हर बार एक-एक लौंग लें. इसका प्रयोग करने के बाद खुली हवा में न जाए व आराम करे.
  • ठंडा पानी न पिए- दिनभर हल्का गुनगुना पानी मरीज़ को पिलाये।  पानी में निम्बू या मोसमी रस, अदरक का रस, तुलसी और पुदीने का रस, काला नमक और शहद डाले तो और फायदा होगा।
  • शहद- एक गिलास हल्के गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर रोज सुबह लें। आप इसमें आधा चम्मच नींबू का रस भी मिला सकते हैं। शहद में एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेटरी व एंटीऑक्सीडेंट जैसे गुण पाए जाते हैं, जो बुखार का इलाज करने के लिए कारगर माने जाते हैं। ज्वर के दौरान आप शहद का सेवन बताए गए तरीके से कर सकते हैं।
  • अदरक- बुखार के लिए अदरक का इस्तेमाल एक प्राकृतिक औषधि के रूप में किया जा सकता है। इसके एंटीवायरल और जीवाणुरोधी तत्व शरीर में संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। बुखार की दवा के रूप में आप अदरक का सेवन कर सकते हैं।
  • हल्दी और दूध- बुखार के लिए एक ग्लास दूध का ले उसको हल्का गर्म करें ,फिर उसमें एक चम्मच हल्दी की डालकर उसको अछि तरह से गर्म करे,फिर उसको छानकर मरीज को दे,इससे बहुत ही जल्द बुखार में आराम मिलता है।

बुखार रोकने के बचाव-

  • हमेशा अपने हाथों को धोकर रखे और साथ ही अपने बच्चों को भी सिखाएं।ऐसा खासतौर पर खाने से पहले,शौचालय का उपयोग करने बाद,भीड़ में समय बिताने के बाद,किसी संक्रमित व्यक्ति के पास जाने के बाद,जानवरो को छूने के बाद और सार्वजनिक वाहनों में यात्रा के बाद हमेशा अपने को अपने हाथ अवश्य धो लेना चाहिए।
  • हमेशा हैंड सेनेटाइजर अपने पास रखे।जब आपके पास साबुन और पानी उपलब्ध न हो तो इसका इस्तेमाल कर सकते है।
  • हमेशा अपनी नाक,मुँह या आँखों को छुने से बचें, क्योंकि इन रास्तों से ही वायरस ओर बैक्टेरिया आपके शरीर के प्रवेश करते ह ओर संक्रमण का कारण बनते है।
  • छींकते या खाँसते समय अपने मुँह और नाक को ढककर रखे और अपने बच्चों को भी ऐसा करने को कहे।जब भी संभव हो, छिकने ओर खाँसने के दौरान दुसरो से दूर रहे,ताकि वे इस संक्रमण का शिकार होने बच सके।
  • मरीज से अपने बच्चों के साथ कप,पानी की बोतले ओर बर्तनो का साझा करने से बचाये।
तो बताइए दोस्तो में द्वारा बताए गए बुखार के लक्षण ,कारण और उपायो का घरेलू रामबाण उपाय आपको कैसे लगे ,अगर अच्छे लगे हो तो लाइक,शेयर ओर कमेंट करके जरूर बताएं,साथ ही इस जानकारी को अपने परिवार और मित्रो के साथ अवश्य शेयर करे।
धन्यवाद



Post a Comment

Previous Post Next Post