बदलते मानसून ( बरसात , गर्मी और सर्दी ) में अपनी त्वचा की देखभाल कैसे करे...

बरसात,गर्मी और सर्दी में ऐसे रखे अपनी त्वचा का ख्याल

मानसून में त्वचा की देखभाल
मानसून में त्वचा की देखभाल
मौसम का बदलना प्रकृति का नियम हैं, मौसम हर एक साल में 3 बार चेंज होता हैं, जिसमे पहले सर्दी फिर गर्मी और बारिश (बरसात) का मौसम आता हैं। हर बदलते मौसम के मिज़ाज में परिवर्तन होने से हमारे शरीर की त्वचा में अलग-अलग हर मौसम के हिसाब से बदलाव आते रहते हैं।

तो अब हम यहाँ हर बदलते मौसम को देखते हुए, मौसम में त्वचा के अंदर होने वाले बदलावों को ध्यान में रखते हुए उनकी देखभाल कैसे करे तथा त्वचा कि problem से कैसे बचा जा सकता हैं।


बरसात का मौसम


बारिश के मौसम में हवा में अधिक नमी होने की वज़ह से त्वचा पर कई प्रकार की समस्याएँ उत्पन्न हो जाती हैं। जैसे दाने निकल आना, मुँहासे हो जाना।

बरसात के मौसम में आमतौर पर यह प्रॉब्लम कई पुरुषों / महिलाओं को हो जाती है। ऑयली स्किन से चेहरे पर दाने होने लगते हैं, तो ड्राई होने पर वह खींची-खींची-सी लगती है।

इस मौसम में अधिक देर तक गीले रहने से त्वचा कट-फट जाती है। फंगल इंफेक्शन होने का भी भय रहता है।

इस मौसम में चेहरे पर कील-मुँहासे की समस्या अधिक होती है।

(इसे भी पढ़े:- कील मुहासों को जड़ से ख़त्म कैसे करे )


बचाव के उपाय


इस मौसम में बाल अधिक तैलीय हो जाते हैं, इसलिए बालों को सप्ताह में दो-तीन बार शैम्पू करें। बाल बारिश में भीगने के बाद शैम्पू ज़रूर करें।

बारिश के दिनों में पैरों की तरफ़ भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

पसीने और बारिश के पानी से पैर की उँगलियों के बीच काफ़ी मैल जम जाती है।

पैरों में बदबू की समस्या भी हो जाती है। दिन में दो-तीन बार पैरों को अच्छे से साफ़ करें।

बरसात के मौसम में त्वचा कि सफ़ाई के साथ-साथ पेट की सफ़ाई का भी ध्यान रखना चाहिए।

पेट की गड़बड़ी होने से त्वचा निर्जीव व कांतिहीन हो जाती है तथा चेहरा भी बुझा-बुझा-सा दिखाई देता है।

( इसे भी पढ़े :- कब्ज को जड़ से ख़त्म करने के लिए घरेलू उपाय )

नहाने के पानी में नीबू का रस या गुलाब जल डालकर स्नान करें। इससे ताज़गी बनी रहेगी।

बरसात के दिनों में वाटरप्रूफ मेकअप करें, जिससे रिमझिम फुहार से मेकअप प्रभावित न हो।

इस मौसम में हाथ-पैर व त्वचा पर कोल्डक्रीम, जैतून का तेल, बॉडी या बेबी ऑइल अवश्य लगाएँ। इससे त्वचा मुलायम बनी रहेगी।

बरसात के दिनों में साफ़ व सूखे कपड़े पहनें।

कपड़े ऐसे पहनें, जिससे शरीर का अधिकांश भाग ढँका रहे।

अगर स्किन ड्राई रहती है, तो स्किन को मॉइश्चराइज करने के लिए शहद बेस्ट ऑप्शन है। कुटे हुए बादाम और शहद मिलाकर एक पेस्ट बना लें और चेहरे पर पांच से सात मिनट के लिए लगाकर साफ़ कर लें। आप एक छोटे चम्मच दूध में पांच बूंदे कैमोमाइल तेल डालकर चेहरे पर लगा सकती हैं।

बारिश के दिनों में हवा में नमी भरी होती है, जिस कारण स्किन को जल्दी-जल्दी साफ़ करने की ज़रूरत पड़ती है। ऐसे में दिन में तकरीबन दो-तीन बार हल्का क्लींज़र इस्तेमाल करें, ताकि स्किन के छिद्र बंद न हों और वह सांस लेती रहे।

इसके अलावा, प्योर ओटमील स्क्रब और पपीते का गुदा भी इस्तेमाल कर सकती हैं। ऑयली स्किन वाले लोग एक छोटे चम्मच पानी में दस बूंद लैवेंडर तेल की डालकर फेस पर लगा सकती हैं। हाँ, इस मौसम में रोज़ रात को एंटी-बैक्टीरियल टोनर लगाकर सोएँ। यह स्किन का पीएच लेवल सही रखता है।


गर्मी का मौसम

गर्मी में त्वचा की देखभाल
गर्मी में त्वचा की देखभाल
गर्मी के दिनों में तेज धूप और गर्म हवाएँ त्वचा को काफ़ी नुक़सान पहुँचाती हैं। इस मौसम में पसीने की चिपचिपाहट का भी सामना करना पड़ता है।

गर्मी के मौसम में पसीना अधिक निकलने की वज़ह से घमौरी, खाज, खुजली आदि की शिकायत भी उत्पन्न हो जाती है।

तेज धूप में निकलने पर त्वचा पर सनबर्न, पिगमेंटेशन आदि की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है।

अधिक गर्मी और पसीने की वज़ह से बगलों व जाँघों में संक्रमण हो जाता है।

(इसे भी पढ़े :- गर्मी के दिनों में त्वचा की देखभाल कैसे करे )


बचाव के उपाय


दिन में कम से कम दो बार ठंडे पानी से रगड़-रगड़कर स्नान करें।

साफ, धुले, सूती कपड़े पहनें। अंतर्वस्त्र दो बार बदलें।

दिनभर में 3-4 बार चेहरे को फेसवॉश से साफ़ करें।

ककड़ी, खीरा, संतरा या मौसमी का रस निकाल लें। इसे ट्रे में डालकर फ्रिज में जमने के लिए रख दें। इसके क्यूब को चेहरे पर मलें। चेहरा चमक उठेगा। रोमकूपों और मुँहासों के लिए भी लाभदायक होता है।

पानी में थोड़ी-सी फिटकरी मिलाकर इसे आइस क्यूब में रखकर फ्रिज में जमा लें। यह क्यूब चेहरे पर रगड़ने से ताज़गी मिलती है।

गर्मी के दिनों में ब्लीचिंग न करवाएँ। इससे त्वचा काली हो जाने का डर रहता है।

धूप में निकलने पर सनस्क्रीन या सन ब्लॉक क्रीम, लोशन का इस्तेमाल करें।

( इसे भी पढ़े :- गर्मी में लू लगने से कैसे बचा जा सकता हैं )


ठंड (सर्दी) का मौसम

सर्दी में त्वचा की देखभाल
सर्दी में त्वचा की देखभाल
ठंड के मौसम में वातावरण की नमी और सर्द हवाएँ त्वचा को हानि पहुँचाती हैं। मौसम के प्रभाव से त्वचा शुष्क हो जाती है और फटने लगती है।

चेहरा बुझा-बुझा और बेजान लगता है। बालों में रूसी की समस्या पैदा हो जाती है।

त्वचा पर खुजली, स्क्रेच, दाने आदि की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

( इसे भी पढ़े :- सर्दी गर्मी में होने वाली बुखार से कैसे बचें )


बचाव के उपाय


इस मौसम में साबुन कम इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि साबुन त्वचा कि शुष्कता को और बढ़ा देता है।

त्वचा पर कोक बटर, मिल्क क्रीम, मक्खन, कोल्ड क्रीम, मॉइश्चराइजर आदि की मालिश करें।

अधिक गर्म पानी से स्नान न करें। स्नान करते समय पानी में कुछ बूँदें बेबी ऑइल, ऑलिव ऑइल या बॉडी ऑइल भी डालें। इससे त्वचा मुलायम बनी रहेगी।

इस मौसम में स्टीम बाथ लेना त्वचा के लिए काफ़ी लाभदायक होता है। इससे त्वचा कि शुष्कता दूर होती है।

शरीर पर जैतून, नारियल, सरसों आदि तेलों की मालिश करने से त्वचा मुलायम बनी रहती है।

बाहर से आने के बाद हाथ-पैर, चेहरा धोने के बाद हैंड एंड बॉडी लोशन लगाएँ। इससे हाथ-पैर व चेहरे की त्वचा मुलायम बनी रहेगी।

( इसे भी पढ़े :- वायरस से लड़ने के लिए Immunity को कैसे बढ़ाएं )

अगर जानकरी अछि लगी हो शेयर ओर कमेंट करके जरूर बताएं।धन्यवाद.

Post a Comment

नया पेज पुराने